बेटियों को गर्भ में मारने के लिए हो रही थी पांच हजार में डील,

Spread the love

बेटियों को गर्भ में मारने के लिए हो रही थी पांच हजार में डील, दो अरेस्ट  स्वास्थ्य विभाग के स्टिंग ऑपरेशन में यहां गर्भ में पल रही बेटी का पता लगाने और उसकी मौत की डील पांच हजार रुपये में तय हुई। दो लोगों को मौके पर ही गिरफ्तार कर लिया गया।  प्रतीकात्मक तस्वीरफरीदाबाद
राजीव कॉलोनी बल्लभगढ़ स्थित गौरव अस्पताल में अवैध रूप से गर्भपात करने की शिकायत मिलने पर स्वास्थ्य विभाग ने शुक्रवार शाम को छापेमारी की। स्वास्थ्य विभाग के स्टिंग ऑपरेशन में यहां गर्भ में पल रही बेटी का पता लगाने और उसकी मौत की डील पांच हजार रुपये में तय हुई। देर रात तक चली कार्रवाई के दौरान मौके पर कई तरह की अनियमितताएं पाई गईं, जिसके चलते स्वास्थ्य विभाग ने पांच लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया। दो लोगों को मौके पर ही गिरफ्तार कर लिया गया।

सिविल सर्जन डॉ रणदीप सिंह पुनिया ने बताया कि अस्पताल के खिलाफ पिछले काफी समय से शिकायतें मिल रही थीं। ऐसे में डिप्टी सिविल सर्जन डॉ़ हरीश आर्य के नेतृत्व में टीम का गठन कर मौके पर कार्रवाई की गई। टीम में खेड़ी स्वास्थ्य केंद्र के एसएमओ डॉ हरजिंदर, मेडिकल ऑफिस डॉ राखी व ड्रग कंट्रोल ऑफिसर डॉ पूजा शामिल थी।

नर्स खुद दे रही थी गर्भपात की दवा
डॉ हरीश आर्य ने बताया कि हमने एक महिला को नकली ग्राहक के रूप में तैयार कर मौके पर भेजा। महिला का अल्ट्रासाउंड करने व गर्भपात कराने की डील 5 हजार रुपये में फाइनल हुई। उन्होंने बताया कि अस्पताल एमटीपी एक्ट के तहत रजिर्स्ड है और रजिस्ट्रेशन डॉ मधु के नाम पर है। वहीं, यहां पर अल्ट्रासाउंड सेंटर भी रजिस्टर्ड है, जिसके लिए डॉ राजकुमारी अधिकृत हैं। दोनों ही अस्पताल में मौजूद नहीं थीं। उनकी गैरमौजूदगी में अस्पताल की एक नर्स खुद ही अल्ट्रासाउंड करने व गर्भपात की दवा देने का काम कर रही थी।

मौक से नर्स हुई फरार
जीजी थॉमस नाम की नर्स ने नकली ग्राहक के रूप में भेजी गई महिला का भी अल्ट्रासाउंड किया और उसे गर्भपात की दवा दे दी। हमारी टीम ने उन्हें रंगे हाथों पकड़ लिया और अस्पताल संचालक से पैसे भी बरामद कर लिए गए। वहां पर गर्भ में लिंग जांच करने के भी सबूत मिले हैं। डॉ हरीश आर्य ने बताया कि हमने अस्पताल संचालक गौरव, इंचार्ज सन्नी, अल्ट्रासाउंड संचलाक जगदीश, राजकुमारी व नर्स जीजी थॉमस के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। नर्स मौके से फरार हो गई थी, राजकुमारी व जगदीश वहां मौजूद नहीं थे। गौरव व सन्नी को पुलिस ने मौके पर गिरफ्तार कर लिया।